Top 10 Tips To Get Pregnant Fast Naturally जल्दी प्रेग्नेंट होने के 10 प्रमुख टिप्स

10 महत्पूर्ण बातें उनको जानना बहुत जरुरी है जो महिला जल्दी प्रेगनेंसी प्लान करना चाहती है उसके लिए ये बातें  जानना बहुत जरुरी है वो कौनसी बातें जिसे अगर वो  फॉलो करे तो प्रेगनेंसी बहुत जल्दी ठहरती है और  किन2  बातों का आपको पता होना बेहद जरुरी है जिससे जल्दी प्रेगनेंसी हो सके तो शुरू करते है उससे पहले timesgloble.com पे आपका एक बार फिर से  स्वागत है तो बिना देर किये शुरू करते है तो चलो जानते है की जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना बेहद जरुरी है ?

1 -आपको अपना फर्टाइल विंडो पता होना बेहद जरुरी है आपको पता होना चाहिए की आपके अंदर अंडा कब रिलीज़ होता है बहुत बार लोग रिलेशनशिप रख रहे होते है, अच्छे से सेक्स भी कर रहे होते है फिर भी उनकी प्रेगनेंसी नहीं ठहरती है क्युकी उनको पता ही नहीं होता है, की उनका अंडा कब रिलीज़ हो रहा है और ऐसा नहीं है की हर महिला के अंदर ओवुलेशन same डे 15 ,14 दिन में ही हो वो कब होने वाला है वो आपको अपने साइकिल लेंथ  से जानना बेहद जरुरी है यानि की आपको पीरियड्स कितने दिन में आते है सबसे पहले हम जानेंगे की साइकिल लेंथ कैसे कैलकुलेट करते है ?देखिये इसका कैलकुलेशन हम आपको एक example  के तहत समझते है?

मान लीजिये आपका पीरियड हर 5 सितम्बर को आता है अब अगला पीरियड आएगा हर 4 अक्टूबर को तो इन दो तारीखों  के बिच में 30 दिन आते है जिस दिन आपका पीरियड शुरू होता है उसको आप day -1 कहेंगे यानि आपके पीरियड  5 sep को आया और अगला पीरियड आएगा 4 अक्टूबर को तो यानि की आपकी 30 डेज की साइकिल है और अगर आपका पीरियड 5 sep को आया और अगला 2 oct को आया तो आपकी 28 डेज की साइकिल है और अगर  आपका पीरियड 5 sep को आया था और वो अब आ रहा है 6 october को तो आपकी 32 डेज की साइकिल लेंथ  होगी तो सबसे पहले आपने ये जानना बहुत जरुरी है की आपकी साइकिल लेंथ कितनी है कितने दिन का आपका साइकिल लेंथ है

तो आपके दो पीरियड के बिच जितने दिन आते है उसको हम साइकिल लेंथ कहते है उसके लिए हम पहले पीरियड का day -1 काउंट करते है बहुत बार कई लोग  ये गलती करते है की जिस दिन उनके पीरियड खतम होते है वो उस दिन से कैलकुलेट करते है ऐसा नहीं करना है जिस दिन आपका पीरियड स्टार्ट हुआ है उसी दिन से आपको अपनी  साइकिल कैलकुलेट करनी है यानि डे -1 से दोनों पीरियड्स का first first डे के बीच में जितने दिन आते है वो आपकी साइकिल लेंथ होती है

अगर आपका 30 डेज का साइकिल लेंथ है तो आपका ओवुलेशन लगभग 16 डेज में होगा अगर आपकी 28 दिन की साइकिल है तो आपका ओवुलेशन 14 days पे होगा, वही अगर आपकी साइकिल लेंथ 32 डेज की है तो आपका ओवुलेशन 18 दिन पे होगा अगर आप तीनो example  को देखे तो एक चीज इसमें कॉमन है की आपकी  जितनी  साइकिल लेंथ होती है उसमें से अगर हम  14 डेज माइनस  कर दे , तो वो आपका डे ऑफ़ ओवुलेशन होता है यानि की अंडा निकलने का दिन होता है 28 दिन की साइकिल के हिसाब से 14 डेज 30 दिन की साइकिल के हिसाब से 16 डेज और 32 दिन की साइकिल के हिसाब से 18 डेज

अब ये जानते है की ओवुलेशन days  का दिन जानना इतना जरुरी क्यों होता है?

देखो जो अंडा होता है उसकी लाइफ 12 से 24 hours की  ही होती है यानि की उस टाइम पे अगर स्पर्म available  नहीं हुए तो फर्टिलाइजेशन नहीं होगा और प्रेगनेंसी नहीं होगी क्युकी अंडा बहुत कम  समय के लिए survive करता है just 12 to 14 hours और स्पर्म की लाइफ महिला के सरीर के अंदर  5 दिन की होती है इसीलिए हमारी सलाह यही है की जो आपका अंडा निकल के आने का दिन है या जो आपका ओवुलेशन का दिन है उससे 4 ,5 दिन पहले और एक दिन बाद तक आपको रिलेशन रखने है जिससे की प्रेगनेंसी हो सके.

अगर कई बार ऐसा होता है की आपको अपनी ओवुलेशन डेज नहीं पता है तो आप मार्किट से ओवुलेशन किट भी ले सकते है इससे आपको अपनी अंडा निकल  कर आने का दिन का पता चल जायेगा।

2 -आपको रिलेशन रखने के बाद 15 मिनट तक लेटे रहना चाहिए ये इसीलिए जरूरी है ताकि स्पर्म easily uterus के अंदर मूव हो जाये , इसलिए 15 मिनट आप लेटे रहे अगर हम ivf तकनीक भी जब यूज़  करते है तो उसमें भी पेशेंट को 15 मिनट तक लेताये रखते है ताकि स्पर्म अंदरअच्छे से मूव कर पाए.

3 -आपको अपनी डाइट का भी ख्याल रखना बहुत जरुरी है आपको अपनी डाइट के अंदर हरी सब्जी और फलो का entake ज्यादा रखना चाहिए और  बीन्स और नट्स का प्रयोग भी ज्यादा से ज्यादा  ले उसमें ओमेगा फैटी एसिड होते है ,एंटीऑक्सीडेंट होते है हरी सब्जी में जो एंटीऑक्सीडेंट होते है वो स्पर्म और अंडे दोनों की क्वालिटी को इम्प्रूव करते है इस डाइट को पुरुष और महिला दोनों को लेना चाहिए लेकिन महिला के केस में हम कहते है की पाइनएप्पल और पपीता का प्रयोग न ही करे तो अच्छा होगा क्युकी इन फलो को उसे इसलिए नहीं लेना  चाहिए क्युकी इसमें कुछ ऐसे एंजाइम होते है जो miscarriage की सम्भावना को बड़ा देते है इसीलिए  ब्रोकली ,पालक, नट्स ,बिन्स हरी सब्जिया इन सबका प्रयोग ज्यादा से ज्यादा मात्रा में करे।

घी चिकनाई वाली चीज का कम इस्तेमाल करे और जंक फ़ूड का प्रयोग तो कम  ही करे क्युकी जब आप जंक फ़ूड अधिक लेते है तो आपके हार्मोन्स इम्बैलेंस हो जाते है और प्रेगनेंसी concieve करने के लिए आपके हार्मोन का बैलेंस होना बहुत जरुरी है

आपको pre natel  विटामिन्स या मल्टीविटामिन सप्लीमेंट का प्रयोग करना भी आवश्यक है वो भी प्रेगनेंसी प्लान करने से पहले जिसमें आता है फोलिक एसिड ,विटामिन b 12, विटामिन d ये सब anti ऑक्सीडेंट है अगर ये सब लेते है तो इसका भी फायदा आपको होता है  इससे न ही बच्चे में जन्मजात वाली विकीरतिया कम होती है   बल्कि बच्चा ठहरने की सम्भावना भी बढ़ जाती है क्युकी इससे हार्मोन्स बैलेंस  में आते है और एंटी ऑक्सीडेंट स्पर्म और एग की क्वालिटी को भी इम्प्रूव कर देते है जिस से फर्टिलाइजेशन होने की सम्भावना बढ़ जाती है

4 -अगली महत्पूर्ण बात आपको बिलकुल रिलैक्स रहना है calm रहना है आपको सारे दिन भर स्ट्र्रेस में नहीं रहना है जब भी महिला हर बार स्ट्रेस में रहती है प्रेगनेंसी हो नहीं रही है सारा दिन भर इसीके बारे में सोचती है तो इससे आपके हार्मोन्स डिस्टर्ब  हो जाते है और हार्मोन के  डिस्टर्ब होने से नुकसान ही होगा इसलिए आपको खुद को बिजी रखना है ताकि आप स्ट्रेस न ले सके ,जितना खुद को बिजी रखेंगे वो आपके लिए अच्छा रहेगा और आपके प्रेगनेंसी के चान्सेस भी बढ़ जायेंगे

5 -रेगुलर वाक कीजिये ,एक्सरसाइज कीजिये अगर आप कार्डिओ फॉर्म में एक्सरसाइज करेंगे तो वो अच्छा रहेगा लेकिन आपको सेकंड trimster में यानि की जब अंडा निकल के बाहर आ चूका है ओवुलेशन हो चुका है   एक्सरसाइज को थोड़ा कम कर देना है आपको स्ट्रांग कार्डिओ नहीं करना है क्युकी इससे आपका इंप्लांटेशन  डिस्टर्ब हो सकता है अगर आप उस टाइम पे बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करेंगे तो कुछ नुकशान होने के चान्सेस बढ़ सकते है फर्स्ट trimister पे आप वाक ब्रीथिंग एक्सरसाइज कर सकते है ताकि ये सब आपके हार्मोन्स को बैलेंस रखें

6 – बहुत बार पेटेंट  के दिमाग में ये बात होती है की पतला होने से प्रेगनेंसी  होती है या मोटा होने से यानि की वेट को लेके उनका ये कंसर्न होता है, तो देखें आपको आइडियल वेट रखना है न ज्यादा  मोटा होना है और न जयदा पतला होना है अगर आपका वजन बहुत कम है जैसे कुछ महिला इतना वेट loose  कर लेते है तो ऐसे कंडीशन पे कभो कभी पीरियड्स आने भी बंद हो जाते है क्युकी हार्मोन डिस्टर्ब हो जाते है तो ऐसा बिलकुल ही न कीजिये और कुछ महिला ऐसे होती है जो अच्छा बच्चा की चाह  में खा खा के इतने वजन बढ़ा लेती है तो आपको ऐसा भी नहीं करना है तो आइडियल वेट को मेन्टेन करना बेहद जरुरी है

7 -आपको प्रेगनेंसी प्लान करने से पहले थोड़े बहुत टेस्ट करवाना बेहद जरुरी है जैसे थाइरोइड का टेस्ट है क्युकी बहुत बार थाइरोइड के कारन भी प्रेगनेंसी होने में दिक्कत होती है hch और स्पर्म काउंट कुछ बेसिक टेस्ट होते है  ये आप करवा सकते है

8 -स्मोकिंग न महिला को करनी है न पुरुष को करनी है ये  बहुत जरुरी  है स्मोकिंग जो होती है वो एग की क्वालिटी को भी खराब कर देती है और स्पर्म की क्वालिटी को भी खराब कर देती है तो बहुत बार कई पेटेंट का जब हम हिस्ट्री लेते है की क्या दिक्कत है तो उनके केस में स्मोकिंग आती है ,स्मोकिंग आपको अवॉयड करनी है और अल्कोहल का इन्टेक भी कम मात्रा में होना चाहिए इनको जितना अवॉयड कर सके उतना अच्छा रहेगा

9 -इसके अलावा आपको ये पता होना चाइये की आपको कितना हद तक प्रेगनेंसी को नैचुरली प्लान करना है यानि की बहुत बार कई लोग प्रेगनेंसी कई सालो बाद  तक प्लान करते है तो ऐसा प्लान नहीं करना है  है देखिये अगर आपकी age  30 से कम है तो आप एक साल तक नेचुरल प्लानिंग ले  सकते है लेकिन अगर एक साल में अनप्रोटेक्टेड सेक्स करने के बाद भी रिजल्ट नहीं मिल रहे है तो आप  डॉक्टर से प्लान कर सकते है यदि  आपकी  age ३० से अधिक है और 6 महीने लगातार सेक्स करने के बाद भी बच्चा नहीं हो रहा है तो आपको डेफिनेटली डॉक्टर से कंसल्ट करना बेहद जरुरी है क्युकी जब हम बहुत जयदा समय दे देते है जैसे 30 के बाद फर्टिलिटी कम हो जाती है तो 6 महीने में रिजल्ट नहीं आता है तो डॉक्टर के पास जरूर जाये आजकल तो फर्टिलिटी का एडवांस्ड फीचर आ गए है कोई भी प्रॉब्लम हो तो उसको डिटेक्ट किया जा सकता है

10 -प्रेगनेंसी प्लान करने की आपको सही age पता होनी चाइये आपको बहुत ज्यादा जैसे बहुत से लोग कर्रिएर के चक्केर पे या जॉब के चक्कर पे प्रेग्नन्सी प्लान करने का सही समय  को छोड़ देते है यानि की आपको ३०से पहले ही पहला बच्चा प्लान कर लेने चाइये वो बहुत ही जरुरी चीज है

तो दोस्तों ये थे 10 महत्पूर्ण बातें  आपको इनका  जरूर ध्यान रखना है अगर आप  प्रेगनेंसी प्लान कर रहे है आशा करते है कि  आपको  जानकारी अच्छी लगी होगी

अलविदा

 

Leave a Comment