हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस🍌 में क्या अंतर है? जानिए क्या है सच किसका लिंग है बेहतर?

दोस्तों इस बात में कितनी सच्चाई  है आज के इस पोस्ट में आपको मिल जाएगी |क्या वाकई में दोनों के लिंग में अंतर होता है ?किसका लिंग बेहतर है ?अभी रिसेंटली मेरे किसी रिलेटिव ने डॉक्टर से  शेयर किया की मेरी वाइफ मुझमें इंट्रेस्ट नहीं लेती और उसे मुस्लिम का लिंग पसंद है आखिर क्या रीज़न है ?क्या उनके लिंग में ज्यादा स्टेमिना होता है? हिन्दू के मुकाबले या उनका साइज बड़ा होता है ?आखिर वजह क्या है ?तो इन सब के बारे में डिटेल में बात करते है|

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

तो दोस्तों ऐसा पहले कहना  ही गलत है की उनका लिंग और हिन्दू मुस्लिम के लिंग में अंतर होता है ये तो वही बात हुई की हिन्दू की लड़की और मुस्लिम की लड़की अलग है दोनों शामे ही है या उनकी बनावट अलग है ऐसा कथन बिलकुल गलत है की उनका साइज बड़ा होता है  लेकिन कह सकते है की एक चीज का अंतर होता है ?वो क्या चीज है आइये जानते है?

Circumcision

खतना करना  करना इसमें लड़का पैदा होने के कुछ समय बाद उनके लिंग के आगे की चमड़ी निकल दी जाती है सीधे शब्दों वो चमड़ी जो लिंग के मुँह को ढके रहती है

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

मुस्लिम धर्म में छोटे शिशु का भी खतना कर देते है जिसके लिए बच्चे  को पीठ के बल लिटा कर उसके हाथो और पैरो को शांत  रख दिया जाता है  या फिर लोकल एनस्थीसिया दिया जाता है जिससे लिंग और उसके आस पास की जगह सुन्न हो जाती है साथ ही बच्चे को चीनी का घोल भी दिया जाता है ताकि उसका ध्यान उस दर्द की तरफ न जाये बच्चे का खतना कर देने के बाद काफी ध्यान दिया जाता है|

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

खतना करने की वजह से लिंग iracted के साथ बड़ा प्रतीत होता है इस कारण आपको लगेगा दोनों में ही उसका साइज बड़ा है लेकिन ये बात  एक सर्वे के द्वारा पता चला जब औरतो ने बताया की दोनों के लिंग एक सामान है इसमें कोई अंतर नहीं है|

खतना circumcision   का क्या फायदे  होते है 

A -लिंग को साफ रखने में आसानी होती है खतना करवाने से इन्फेक्शन होने का खतरा कम  हो जाता है क्युकी इन्फेक्शन को नमी नहीं मिलती पनपने को

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

B-लिंग में कैंसर होने का खतरा कम  हो जाता है

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

C-मूत्र में संक्रणण का खतरा काम हो जाता है|

D-यूरिन इन्फेक्शन काम हो जाता है|

हिन्दू मुस्लिम दोनों के पेनिस 🍌में क्या अंतर है जानिए क्या है सच?

E-पेनिस से जुडी सभी समस्या से राहत मिलती है

पेनिस को हेल्दी रखने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी यह है कि आप समय-समय पर इसकी जांच करते रहें और इस बात का पता लगाएं कि कहीं कोई समस्या तो नहीं उभर रही है. ऐसा करने से न सिर्फ गंभीर बीमारियों से बचे रहने में मदद मिलेगी, बल्कि अगर कोई बीमारी पनप भी रही है तो इसका समय पर इलाज भी संभव हो सकेगा. आइए जानते हैं कि आप पेनाइल हेल्थ का ख्याल कैसे रख सकते हैं.

पेनिस में कहीं गांठ तो नहीं!

पेनिस में होने वाली गांठ कई प्रकार की हो सकती है. इनमें से ज्यादातर ऐसी भी होती हैं, जो नुकसानदायक नहीं होतीं. हालांकि फिर भी किसी भी तरह की गांठ का उभरना अनहेल्दी पेनिस की निशानी है. गांठ पैदा होने की वजहों में से एक वजह वसामय ग्रंथि में रुकावट हो सकती है. इससे सिस्ट यानी गांठ का निर्माण होता है. ज्यादातर सिस्ट वैसे तो अपने आप चले जाते हैं. लेकिन कुछ सिस्ट ऐसे भी होते हैं जो शरीर में गंभीर बीमारियों को पैदा करने का कारण बनते हैं.

कोई मस्सा, घाव या एब्नार्मल डिस्चार्ज

मेडिकल न्यूज टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, एक हेल्दी पेनिस की निशानी यही है कि उसमें कोई घाव, मस्सा या एब्नार्मल डिस्चार्ज जैसी समस्याएं नहीं होनी चाहिए. हालांकि अगर आपको ऐसी समस्याएं नजर आ रही हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना बेहतर विकल्प होगा. क्योंकि किसी भी तरह की लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है.

पेनिस में सूजन 

पेनिस में किसी भी तरह की सूजन या घाव इस बात का संकेत देता है कि आपकी पेनाइल हेल्थ अच्छी नहीं है. पेनिस के अंतिम सिरे पर सूजन पैदा होना बैलेनाइटिस का लक्षण है. यह समस्या बैक्टीरिया, फंगल इन्फेक्शन, वायरस या एलर्जी की वजह से पैदा हो सकती है.

लिंग (पेनिस) का आकार बढ़ाने की 5 एक्सरसाइज:

पेनिस स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज नेचुरल तरीके से लिंग (पेनिस) का आकार बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करके अपने लिंग (पेनिस) की धीरे से मालिश करना  एक आसान घरेलू नुस्खा है। यहां कुछ एक्सरसाइज  बताई जा रही हैं जो लिंग (पेनिस) का आकार बढ़ाने में आपकी मदद करेगी ताकि आप अपने पार्टनर के साथ सेक्सुअल लाइफ का आनंद ले सकें।

1. मसाज एक्सरसाइज

इस तरह की मैनुअल एक्सरसाइज में लिंग (पेनिस) पर लुब्रिकेंट लगाया जाता है और धीरे-धीरे उसकी मालिश की जाती है। इस एक्सरसाइज का उद्देश्य आपके लिंग (पेनिस) की स्किन को स्ट्रेच करना है जिससे लिंग को बड़ा करने में मदद मिलेगी। आपको जल्दी नतीजे पाने के लिए बार-बार यह एक्सरसाइज करनी होगी

2. लिंग (पेनिस) पंप एक्सरसाइज 

इस स्ट्रेचिंग डिवाइस को लिंग (पेनिस) पर लगाना पड़ता है और इससे तुरंत ही लिंग(पेनिस) में तनाव आ जाता है। यह आमतौर पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन (स्तंभन दोष) की समस्या से पीड़ित पुरुषों के लिए प्रिस्क्राइब किया जाता है।

इसका इस्तेमाल कैसे करें

आपको नीचे बताए गए स्टेप्स का पालन करना होगा :

  • सबसे पहले लिंग (पेनिस) पर लुब्रिकेंट लगाएं ताकि जलन न हो।
  • ट्यूब को अपने लिंग (पेनिस) पर रखें।
  • पंप ऑन करें और इरेक्शन होने में कुछ ही मिनट लगेंगे।

ध्यान दें: जब पंप चालू किया जाता है, तो आप इतनी जल्दी इरेक्शन (तनाव) देखेंगे जो आपने कभी सोचा भी नहीं होगा। इसी  कारण से लिंग (पेनिस) का आकार बढ़ेगा।

3. जेलकिंग एक्सरसाइज

पुरुष आमतौर पर यह एक्सरसाइज काफी करते हैं। यह लिंग (पेनिस) को मोटा करने में मदद करती है। लिंग (पेनिस)  का आकार बढ़ाने के लिए सलाह दी जाती है कि आप इसे रोज़ाना कम से कम एक बार करें। यह बेहतर इरेक्शन (तनाव) में भी मदद करता है जिससे अच्छी सेक्स लाइफ का आनंद मिल सकता है।

कैसे करें?

यहाँ इस एक्सरसाइज को करने का तरीका बताया जा रहा है :

  • दोनों हाथों को लिंग (पेनिस) पर रखें और धीरे से ऊपर से नीचे की ओर ले जाएं।
  • यह ठीक वैसे ही है जिस तरह लिंग (पेनिस) में तनाव लाने से पहले उसे पहले उसे गर्म किया जाता है।

4. स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

यह एक्सरसाइज  गाय को दुहने के जैसी ही है। यह उन सबसे अच्छी एक्सरसाइज में से एक है जो तेजी से नतीजे पाने में मदद कर सकती है। यह एक तरह की जेलकिंग एक्सरसाइज है, लेकिन इसमें सिर्फ आपके अंगूठे और तर्जनी उंगली का इस्तेमाल होता है।

कैसे करें?

  • लिंग (पेनिस) की चमड़ी को ऊपर से नीचे की ओर ले जाने के लिए अपने अंगूठे और तर्जनी का इस्तेमाल करें।
  • ऐसा 20 मिनट तक करें। (ध्यान रखें कि आप इसे हस्तमैथुन की तरह न करें)।
  • अगर लिंग (पेनिस) में इरेक्शन (तनाव) आ जाता है, तो लिंग (पेनिस) को रिलैक्स होने दें और 5 मिनट के बाद फिर से करें।
  • इस एक्सरसाइज को रोजाना कम से कम 20 मिनट तक करें।

5. कीगल एक्सरसाइज

यह एक्सरसाइज सेक्सुअल इंटरकोर्स (संभोग) के समय सबसे सही रहती है। यह एक तरह की मालिश करने वाली एक्सरसाइज है, जिसमें आपको इंटरकोर्स (संभोग) से पहले लिंग (पेनिस) की धीरे से मालिश करने के लिए अपने हाथों का इस्तेमाल करना होता है। यह एक्सरसाइज लिंग के आकार और मोटाई को बढ़ाने में मदद करती है।

पेनिस के रंग पर दें ध्यान 

मेडिकल न्यूज टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, पेनिस का रंग भी आसपास की त्वचा के समान होना चाहिए. हालांकि अगर ऐसा नहीं है तो यह चिंता की बात हो सकती है. अगर आप पेनिस के रंग में बदलाव महसूस कर रहे हैं तो तुरंत आपको डॉक्टर का रुख करना चाहिए. इसके अलावा, पेशाब या यौन क्रिया के दौरान पेनिस में दर्द के अनुभव को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए.

और कई लोग कहते है की कुरान में हिन्दुओ के लिए गलत लिखा है ऐसा कुछ भी नहीं है जिस तरह हिन्दू का सबसे बड़ा ग्रन्थ भगवत गीता है ठीक  उसी तरह मुस्लिम का सबसे बड़ा ग्रन्थ कुरान है कुरान में सिर्फ इंसानो को सच्चे राह में चलने की सलाह दी गयी है

तो ये सरासर कहना गलत है की हिन्दू मुस्लिम के लिंग में कौन बेहतर है तो दोस्तों उम्मीद करते है आपको जानकारी अच्छी  लगी होगी और रिलेटेड पोस्ट के लिए कमेंट करे और

आपको ये जानकारी कैसे लगी जरूर बताये धयन्वाद

Leave a Comment