प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए के नहीं ?Should You Eat Curd During Pregnancy

हेलो दोस्तों timesgloble.com ब्लॉग पे आपका एक बार फिर से  स्वागत है दोस्तों प्रेगनेंसी एक ऐसी जर्नी है जिसमें हमको कुछ न कुछ खाने की इक्छा होती रहती है गर्भावस्था में दही खाना अच्छा है के नहीं कई लोगो के दिमाग में ये सवाल आता है कि मैं दूध खाओ या दही खाओ अगर आप भी इन्ही सवालो से घिरे हो और कन्फ्यूज्ड हो तो आज इन्ही सवाल का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाला है तो चलो शुरू करते है

दही एक इंडियन परिवार का कॉमन इंग्रेडिएंट्स है ये एक बहुत ही साधारण इस्तेमाल करने वाली चीज है लेकिन प्रेगनेंसी में क्या दही खाना अच्छा रहेगा या दूध का इस्तेमाल  करना अच्छा रहेगा? इसी के बारे में आज चर्चा करेंगे

प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए के नहीं ?Should You Eat Curd During Pregnancy

आखिर क्या होता है ‘दही ‘दही कुछ नहीं है ,”एक फर्मनेन्टेड  मिल्क है और इसके अंदर पाए जाते है बहुत से ऐसे बैक्टीरिया जो आपकी हेल्थ के लिए फ्रेंडली है और ये  आपकी गट की हेल्थ को या आपके digestion सिस्टम के लिए जरुरी  है आपकी इम्युनिटी को बढ़ा करके रखते है यानि की आपकी बीमारी से लड़ने की ताकत को भी बढ़ाते है तो कर्ड यानि  दही का इस्तेमाल करना प्रेगनेंसी में काफी अच्छा है बस जरूरत  ये है की  दही जो आप इस्तेमाल कर रहे है वो आपके घर का हो तो ज्यादा अच्छा रहेगा और जो मार्किट से मिल रहा है दही उसमें मिलावट रहती है कभी वो पाउडर मिला देते है या कभी कोर्न्फ्लोवर या कभी कभी तो वो मैदा मिला देते है या उसमें शकर की मात्रा ज्यादा  रहती है तो उस में फायदा कम नुकसान ज्यादा है लेकिन अगर आप घर में ही दही जमाते है तो वो आपके लिए डेफिनाटेली अच्छा रहता है ये आपको नुट्रिशन तो  देती है अगर नुट्रिशन की  बात करू तो ये आपको कैल्शियम देती है इसमें प्रोटीन की मात्रा अच्छा रहता है और साथ ही साथ ये बहुत ही अच्छा प्रोबिओटिक  है प्रोबिओटिक का  मतलब है ,इसके अंदर कुछ  ऐसे बैक्टीरिया पाए जाते है जो हमारे digestive सिस्टम  के लिए बहुत अच्छे  है हमारी  इम्युनिटी को भी बहुत बड़ा के रखते है और ये बैक्टीरिया  कौनसे है लेक्टोबेसिलस

प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए के नहीं ?Should You Eat Curd During Pregnancy

अगर आप दही का इस्तेमाल करते है तो प्रोटीन ,कैल्शियम के साथ साथ आप अपने digestive सिस्टम को भी इम्प्रूव कर सकते है ,अक्सर प्रेगनेंसी में लोगो की शिकायत रहती है की उनको डकार आता है, कब्ज रहती है, गैस की तकलीफ है, एसिडिटी रहती है और बहुत गर्मी लगती है तो ऐसे में कर्ड  यानि दही आपकी ये indigestion लक्षण को दूर करके रखता है दही की तासीर ठंडी होती है तो प्रेगनेंसी में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन के चलते वैसे ही बॉडी टेम्परेचर बढ़ जाता है अक्सर ऐसे में आपको कुछ ठंडा खाने की इक्छा रहती है तो ऐसे में अगर आप दही खाते  है तो वो आपके सरीर को ठंडक देता है टेम्परेचर को मेन्टेन करके रखता है और इसके साथ साथ में बाकि और फायदे भी देगा।

मिल्क ले या दही ले दोनों में कौन ठीक रहता है? अगर हम इसका जवाब जानने की कोसिस करे तो दूध के अंदर पाया जाता है एक प्रोटीन जिसको हम लैक्टोस कहते है ये लेक्टोस काफी difficult होता है डाइजेस्ट करने के लिए. तो जिनको digestive  की समस्या है या जिनको कब्ज की समस्या है ,एसिडिटी की समस्या है ,गैस की समस्या है या कुछ लोग ऐसे होते है जिनको लेक्टोस intolerate होता है वो दूध का इस्तेमाल करते है तो उनको तकलीफ होती है उनको या तो पेट में दर्द स्टार्ट हो जाता है, उल्टिया स्टार्ट हो जाता है तो ऐसे में मिल्क फायदेमंद तो चीज नहीं होती है तो ज्यादातर लोगो में लेक्टोस intolerate पाया जाता है लेकिन इसी मिल्क को आप जब फर्मेंट करते देते है तो जो लेक्टोस होता है या  बैक्टीरिया लेक्टोबेसिलस ये इस लैक्टोस के प्रोटीन को तोड़ देते है जिसकी वजह से आप easily इस मिल्क को डाइजेस्ट कर सकते है और जो दूध के साइड इफ़ेक्ट है जैसे  इन  दीजेस्टिव होना ,फ़ूड से एलेर्जी होना,वो लक्षण को आपने दरकिनारे कर दिया और जो इसके फायदे थे  की इसमें प्रोटीन अच्छा रहता है इसमें कैल्शियम अच्छा रहता है वो आपको मिल जाता है.

प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए के नहीं ?Should You Eat Curd During Pregnancy

दूसरे बात मिल्क की तासीर थोड़ी सी गर्म होती है आप इसका इस्तेमाल कैसे कर रहे  है वो आपके बॉडी टेम्परेचर पे करता है लेकिन दही  हमेशा कूलेंट है आपके बॉडी टेम्परेचर को कम करके रखेगा तो ये एडवांटेज है , खासकर अगर आप प्रेग्नेंट है और गर्मियों का मौसम चल रह है तो मिल्क से बेहतर रहेगा ,आयुर्वेद  के अनुसार अगर आप कर्ड का इस्तेमाल दिन में करते है तो ये आपके लिए काफी अच्छा रहेगा अगर आप इसे रात  में इस्तेमाल करते है या अगर आपको सर्दी है ,खासी है ,दमा है तो ऐसे में आपको सोच समझ के कर्ड का इस्तेमाल करना है  अगर जो लोग लैक्टोस इन्टॉलरेंट है मिल्क  को पचा नहीं पाते  है उनके लिए कर्ड एक बहुत अच्छा substitute  है और कर्ड की एक सबसे अच्छी एडवांटेज है जो मिल्क में नहीं मिल सकती है की ये एक प्रोबिओटिक्स  है और आपको हेअल्थी बैक्टीरिया देता है तो प्रेगनेंसी में कम से कम 600से 650 gm  का दही अगर आप इस्तेमाल करते है या सिंपल सी बात है एक फुल बाउल दही आप ब्रेकफास्ट में और एक फुल बाउल ऑफ़ दही आप लंच में लेते है तो ये आपको भरपूर कैल्शियम देगा, प्रोटीन देगा ,आपका गट हेअल्थी इम्प्रूव करके रखेगा और आपकी इम्युनिटी को भी स्ट्रांग करके रखेगा तो प्रेगनेंसी में प्लीज दही का इस्तेमाल जरूर करे।

आशा करते है दोस्तों आपको ये जानकारी काफी अच्छी लगी होगी

Leave a Comment