प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

प्रेगनेंसी में घर के बुजर्ग अक्सर गर्भवती महिला को ये सुझाव देते रहते है की ये खाओ ये , बिलकुल मत खाओ इससे नुकसान हो सकता है हर किसी से इस तरह के सुझाव मिलने के कारण गर्भवती महिलाये कन्फ्यूज्ड हो जाती है उनको ये समझ नहीं आता है की क्या खाना चाहिए ? क्या नहीं कुछ ऐसा ही होता है आलूबुखारे को लेके। प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

क्या गर्भवती महिलाओ को आलूबुखारा खाना चाहिए ?

अगर आप भी इसी दुविधा में हो तो ये आर्टिकल आपके बहुत काम आने वाला है हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपकी दुविधा दूर करने की कोसिस करेंगे साथ ही आपको आलूबुखारे के फायदे बताएँगे और साथ ही ये भी बताएँगे की कब आपको आलूबुखारे का सेवन नहीं करना चाहिए ?

आइये जानते है की

आलूबुखारा कब खाना चाहिए ?

आलूबुखारा एक रस दार और मुलायम होता है इसका स्वाद मीठे से लेके खट्टा होता है और ये सबको पसंद होता है अब बात करते है की आप गर्भावस्था में आलूबुखारा खा सकती है ?तो इसका जवाब है जी “हां” दोस्तों आप गर्भावस्था के दौरान आलूबुखारे का सेवन कर सकती है इसमें मौजूद पोषक तत्व कार्बोहिटेड प्रोटीन मेगनीसियम फाइबर फोलेट नियासिन पोटेसियम thymin विटामिन a ,c,e कैल्शियम आयरन जिंक और फॉरस्फोरस होता है और ये वो सारे पोषक तत्व है जिनको एक गर्भवती महिला को अपने बच्चे के विकास के लिए आवश्यकता होती है, एक रिसर्च में ये पाया गया है की आलूबुखारा का इस्तेमाल करने से आपके बच्चे का विकास तेजी से हो सकता है खट्टे मीठे स्वाद से भरपूर आलूबुखारे में वो सभी तत्त्व मजूद होते है जो एक हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए जरुरी होते है आप दिन भर में अपने आहार 2 ,3 आलूबुखारे या करीब 200 gm आलूबुखारे खा सकती है लेकिन आपको एक चीज ध्यान जरूर देना है की आपको 1 मंथ से 3 मंथ में इसको अवॉयड करना है क्युकी इसमें विटामिन c की मात्रा ज्यादा होती है अगर आप खाना ही चाहती है तो एक सिमित मात्रा में खाये मतलब की पुरे दिन भर में सिर्फ एक आलूबुखारा

प्रेगनेंसी में आलूबुखारे के फायदा ?

1 -आलूबुखारा ब्लड ग्लूकोस के लेवल को बनाये रखता है

गर्भावस्था में होने वाले शारीरिक बदलाव की वजह से शरीर में ब्लड ग्लूकोस का लेवल बढ़ जाता है जिस वजह से महिलाओ को मधुमेह हो जाता है और इस दौरान कम ग्लिसीक इंडेक्स वाले खाद्य पर्दार्थो का सेवन करना चाहिए जिसमें आलूबुखारे भी शामिल है आलूबुखारे शरीर में ग्लूकोस के लेवल को नियंत्रित करने में मदद करता है

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

2 -समय से पहले डेलिवरी होने से बचाव

विटामिन c की कमी से समय से पहले शिशु जनम ले सकता है ऐसे में विटामिन c बहुत ज्यादा जरुरी हो जाता है गर्भावस्था में और आलू ऐसे चीज है जिसमें विटामिन c प्रचूर मात्रा मेंहोता है नीबू और संतरे के बाद आलू में विटामिन की सबसे ज्यादा पाया जाता है जो गर्भवती महिलाओ के लिए काफी उपयोगी होता है

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

3 -खून की कमी को दूर करता है

दोस्तों गर्भवती महिलाओ को खासकर आयरन की कमी होने से खून की कमी हो जाती है जिसको अनीमिया कहा जाता है ऐसे में आलूबुखारे आपके शरीर में आलूबुखारे खून की कमी को दूर करके आपको अनीमिया से बचाता है यानि जिन गर्भवती महिलाओ को खून की कमी है उनको आलूबुखारे का सेवन जरूर करना चाहिए

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

4 -पाचन क्रिया को मजबूत करता है

दोस्तों अक्सर गर्भवती महिलाओ को पाचन क्रिया में गड़बड़ी होने की समस्या होती है और इस दौरान पाचन क्रिया गर्भावस्था के दौरान बिगड़ जाती है और आलूबुखारे में मौजूद फाइबर आपकी पाचन क्रिया को ठीक करता है इसका सेवन करने से आपकी पाचन प्रणाली अच्छी रहती है, पेट ठीक रहता है ,खट्टी डकार से आपको राहत मिलती है और खट्टे मीठे स्वाद के कारण आप इसको खा सकती है और आसानी से ये हज़म भी हो जाता है

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

5 – कब्ज से राहत

गर्भवती महिला को अक्सर हार्मोन के बदलाव के कारन कब्ज की समस्या रहती है साथ ही आयरन सप्लीमेंट के कारण भी कब्ज की शिकायत और बढ़ जाती है इस दौरान आप कब्ज से राहत पाने के लिए आलूबुखारे का सेवन कर सकती है आलूबुखारे का रस कब्ज से राहत देता है और आपकी पाचन प्रणाली और पेट के लिए बेहतर होता है

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

6 -हडियो को स्वस्थ बनाता है

गर्भवती महिलाओ को हड्डी को स्वस्थ बनाने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है और कैल्शियम सिर्फ दूध से नहीं मिलता कैल्शियम आलूबुखारे से भी मिलता है और आलूबुखारे गर्भावस्था में खाना बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है इसमें मौजूद कैल्शियम आपकी हड्डियों को मजबूत बनाता है और कैल्शियम से भरपूर आलूबुखारे को खाने से आपकी हड्डिया और साथ ही साथ शिशु की हड्डिया भी मजबूत बनती है इसलिए गर्भवती महिलाओ को अपने आहार में आलूबुखारे का सेवन जरूर करना चाहिए

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

7 -हर्दय रोग से बचाता है

आलू एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है इसे खाने से गर्भवती महिला को सूजन नहीं होती है साथ ही साथ हार्ट रोग से भी ये बचाव करता है आलू में पॉलीफिनोइल एंटीऑक्सीडेंट ज्यादा मात्रा में पाये जाते है जो की दिल को स्वस्थ रखता है इसको खाने से गर्भवती महिला का दिल स्वस्थ रहता है साथ ही साथ हृदय रोग से भी बचाव होता है

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

दोस्तों अब बात करते है

कब आलूबुखारे नहीं खाना चाहिए ?

1 -आलूबुखारे में कैलरी की मात्रा काफी ज्यादा होती है और जिन गर्भवती महिलाओ का वजन पहले से ही काफी ज्यादा है उन महिलाओ को आलूबुखारे ज्यादा नहीं खाना चाहिए क्यूकी उनका वजन और बढ़ सकता है इसके अलावा जिन गर्भवती महिलाओ को आलूबुखारे से ऐलर्जी है या जिन महिलाओ को आलूबुखारा खाते ही जिनको पेट दर्द होता है ,उल्टिया आती है तो ऐसे में उन गर्भवती महिला को भी आलूबुखारे का सेवन नहीं करना चाहिए

2 -इसके अलावा जिन गर्भवती महिलाओ को किडनी में स्टोन है या किडनी में पथरी है तो उन महिलाओ को आलूबुखारे का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए और अगर आपने आलूबुखारे का सेवन करना ही है तो एक बार अपने डॉक्टर से जरूर पूछे

प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?

1 thought on “प्रेगनेंसी में आलूबुखारा खाना चाहिए या नहीं ?”

Leave a Comment