क्या प्रेगनेंसी में घी खाना चाहिए के नहीं ?Ghee During Pregnancy Pregnancy Care

जब कोई महिला घर में प्रेग्नेंट होती है तो वो हमेशा सोचती है कि वो बहुत अच्छा खाना खाये की उसका बच्चा तंदुरस्त पैदा हो और  पुरे नौ महीने फुर्तीले से रहे अच्छे से रहे लेकिन इसके लिए देसी घी कुछ महत्पूर्ण रोल निभाता है तो प्रेगनेंसी में हम देसी घी कब खाना  शुरू करे लेकिन इसको खाने का सही तरीका नहीं पता  है बहुत से लोग घी को खाना अच्छा मानते है लेकिन घी को कितनी मात्रा में खाया जाये वो उनको पता नहीं होता है , कुछ कॉम्प्लिकेटेड रिस्की स्टेज होती है प्रेगनेंसी की  उनमें कितनी मात्रा में घी को खाना है ये सब कुछ हम आज की वीडियो में समझने वाले है आपको पता भी नहीं होगा की घी का प्रेगनेंसी  में कितना लाभ हो सकता है.

सबसे पहला सवाल

1 -क्या प्रेगनेंसी में देसी घी खाना चाहिए?

जी हां , बिलकुल खाना चाहिए ,क्युकी जो देसी घी होता है इसमें भरपूर मात्रा में  नुट्रिशन , गुड फैट होता है इसके अलावा देसी घी के अंदर बच्चे के दिमाग को मजबूत बनाए वाले तत्व मौजूद होते है तो प्रेगनेंसी में अगर आप देसी घी खाते  है तो इससे आपका भी ब्रेन अच्छा होगा क्युकी उसके अंदर मिनरल्स है ,विटामिन है, गुड फैट है ,ओमेगा ३ है तो प्रेगनेंसी में देसी घी खाना है ये बात तो ये एकदम सही  है

2 -क्या देसी घी खाने से डिलीवरी आसान हो जाती है?

दोस्तों  इसका कोई sceintific जवाब नहीं है की आपने 7 मंथ से घी खाना  शुरू कर दिया और आपकी आसानी से नार्मल डेलिवरी हो गयी, ये नार्मल डेलिवरी या फिर सुरक्षित डेलिवरी बहुत से फैक्टर्स पर वर्क करती है देसी घी खाने से इसपे  डायरेक्टली कोई इफ़ेक्ट नहीं पड़ता है तो ये भ्रम आप निकाल दे और जो आपको ऐसे सलाह देते है उनको भी ये जानकारी दे दे.

3 -देसी घी खाना कैसे है और कितनी मात्रा में खाना है  ?

दोस्तों , अगर आप overweight नहीं है तो आप एक या दो चमच तो रोज खा सकते है अगर आपको कोलेस्ट्रॉल का प्रॉब्लम नहीं है मेटाबॉलिज्म सही है ,कोई हार्ट प्रॉब्लम नहीं है तो आप घी को तस्सली से यूज़  कर सकते है और जिनके अंदर  ये सरे केसेस होते है उनकी डाइट में गुड फैट को बढ़ाया जाता है और कुछ चीजों को कम किया जाता है ये आपके डिएटिशियन आपको समझा देते है की आपको कितनी  मात्रा में घी का सेवन करना चाहिए

4 -घी को खाने का तरीका क्या होना चाहिए जिससे हमें उसका पूरा लाभ मिल सके  ?

दोस्तों घी से बने पराठे और सादे पराठे  हमको बहुत अच्छे लगते है लेकिन जब हम घी को हाई फ्लेम में पकाते है  पराठे के साथ तो,घी से धूवाँ उठता है और हाई टेम्परेचर पे जब घी बर्न  होता है तो उसका कम्पोजीशन उड़ जाता है और  घी की जितनी ताकत है उसका नुट्रिशन है वो आपको अच्छे से नहीं  मिल पाता है और वो ट्रांस फैट घी बन जाते है तो घी खाने का सबसे अच्छा तरीका है की घी को हम भुने नहीं तेज आँच पर और न  घी को जलाये तो सबसे अच्छा तरीका यही है की घी को आप अपनी सब्जी और दाल में ऊपर से डाले ,चूरमा बना के भी हम घी को खा सकते है लेकिन खाने के टाइम दाल और सब्जी में एक चमच घी दाल दे,आप  रोटी के साथ लगा कर भी घी खा सकते है

5 -घी कैसा यूज़ करना चाहिए?

मार्किट में बहुत सारे  घी हमको मिल जायेंगे लेकिन ये जरूर देखे कि जो प्रेग्नेंट माँ घी खा रही है वो पूरी तरह शुद्ध  हो, हो सके तो घर का घी इस्तेमाल करे क्युकी असुद्ध घी में क्या चीज मिलाया गया है ये हमको भी नहीं पता है नुकसान झेलने से अच्छा आप घर का शुद्ध घी इस्तेमाल करे

6 -किन महिलाओ को घी का सेवन नहीं करना चाहिए ?

  • जिन महिलाओ का वजन काफी ज्यादा बढ़ गया overweight हो गए है और आप काफी ज्यादा हेअल्थी हो गए है तो फिर आपको घी का सेवन नहीं करना चाहिए अगर ऐसे में आप घी का इस्तेमाल करेंगे तो इससे आपके बच्चे का वजन भी जरूरत से ज्यादा बढ़ सकता है और अगर आपके बच्चे का वजन पहले से ही बहुत ज्यादा हो गया है तो भी आपको घी का सेवन नहीं करना चाहिए
  • जिन  महिलाओ को प्रेगनेंसी के टाइम पे हाई bp की प्रॉब्लम है उनको भी प्रेगनेंसी के टाइम पे घी का सेवन नहीं करना चाहिए अगर  आप हाई bp में घी का सेवन करेंगे तो ये बहुत rishky हो सकता है आपके लिए
  • जब कोई महिला घर में प्रेग्नेंट होती है तो वो हमेशा सोचती है कि वो बहुत अच्छा खाना खाये की उसका बच्चा तंदुरस्त पैदा हो और  पुरे नौ महीने फुर्तीले से रहे अच्छे से रहे लेकिन इसके लिए देसी घी कुछ महत्पूर्ण रोल निभाता है तो प्रेगनेंसी में हम देसी घी कब खाना  शुरू करे लेकिन इसको खाने का सही तरीका नहीं पता  है बहुत से लोग घी को खाना अच्छा मानते है लेकिन घी को कितनी मात्रा में खाया जाये वो उनको पता नहीं होता है , कुछ कॉम्प्लिकेटेड रिस्की स्टेज होती है प्रेगनेंसी की  उनमें कितनी मात्रा में घी को खाना है ये सब कुछ हम आज की वीडियो में समझने वाले है आपको पता भी नहीं होगा की घी का प्रेगनेंसी  में कितना लाभ हो सकता है.

    सबसे पहला सवाल

    1 -क्या प्रेगनेंसी में देसी घी खाना चाहिए?

    जी हां , बिलकुल खाना चाहिए ,क्युकी जो देसी घी होता है इसमें भरपूर मात्रा में  नुट्रिशन , गुड फैट होता है इसके अलावा देसी घी के अंदर बच्चे के दिमाग को मजबूत बनाए वाले तत्व मौजूद होते है तो प्रेगनेंसी में अगर आप देसी घी खाते  है तो इससे आपका भी ब्रेन अच्छा होगा क्युकी उसके अंदर मिनरल्स है ,विटामिन है, गुड फैट है ,ओमेगा ३ है तो प्रेगनेंसी में देसी घी खाना है ये बात तो ये एकदम सही  है

    2 -क्या देसी घी खाने से डिलीवरी आसान हो जाती है?

    दोस्तों  इसका कोई sceintific जवाब नहीं है की आपने 7 मंथ से घी खाना  शुरू कर दिया और आपकी आसानी से नार्मल डेलिवरी हो गयी, ये नार्मल डेलिवरी या फिर सुरक्षित डेलिवरी बहुत से फैक्टर्स पर वर्क करती है देसी घी खाने से इसपे  डायरेक्टली कोई इफ़ेक्ट नहीं पड़ता है तो ये भ्रम आप निकाल दे और जो आपको ऐसे सलाह देते है उनको भी ये जानकारी दे दे.

    3 -देसी घी खाना कैसे है और कितनी मात्रा में खाना है  ?

    दोस्तों , अगर आप overweight नहीं है तो आप एक या दो चमच तो रोज खा सकते है अगर आपको कोलेस्ट्रॉल का प्रॉब्लम नहीं है मेटाबॉलिज्म सही है ,कोई हार्ट प्रॉब्लम नहीं है तो आप घी को तस्सली से यूज़  कर सकते है और जिनके अंदर  ये सरे केसेस होते है उनकी डाइट में गुड फैट को बढ़ाया जाता है और कुछ चीजों को कम किया जाता है ये आपके डिएटिशियन आपको समझा देते है की आपको कितनी  मात्रा में घी का सेवन करना चाहिए

    4 -घी को खाने का तरीका क्या होना चाहिए जिससे हमें उसका पूरा लाभ मिल सके  ?

    दोस्तों घी से बने पराठे और सादे पराठे  हमको बहुत अच्छे लगते है लेकिन जब हम घी को हाई फ्लेम में पकाते है  पराठे के साथ तो,घी से धूवाँ उठता है और हाई टेम्परेचर पे जब घी बर्न  होता है तो उसका कम्पोजीशन उड़ जाता है और  घी की जितनी ताकत है उसका नुट्रिशन है वो आपको अच्छे से नहीं  मिल पाता है और वो ट्रांस फैट घी बन जाते है तो घी खाने का सबसे अच्छा तरीका है की घी को हम भुने नहीं तेज आँच पर और न  घी को जलाये तो सबसे अच्छा तरीका यही है की घी को आप अपनी सब्जी और दाल में ऊपर से डाले ,चूरमा बना के भी हम घी को खा सकते है लेकिन खाने के टाइम दाल और सब्जी में एक चमच घी दाल दे,आप  रोटी के साथ लगा कर भी घी खा सकते है

    5 -घी कैसा यूज़ करना चाहिए?

    मार्किट में बहुत सारे  घी हमको मिल जायेंगे लेकिन ये जरूर देखे कि जो प्रेग्नेंट माँ घी खा रही है वो पूरी तरह शुद्ध  हो, हो सके तो घर का घी इस्तेमाल करे क्युकी असुद्ध घी में क्या चीज मिलाया गया है ये हमको भी नहीं पता है नुकसान झेलने से अच्छा आप घर का शुद्ध घी इस्तेमाल करे

    6 -किन महिलाओ को घी का सेवन नहीं करना चाहिए ?

    • जिन महिलाओ का वजन काफी ज्यादा बढ़ गया overweight हो गए है और आप काफी ज्यादा हेअल्थी हो गए है तो फिर आपको घी का सेवन नहीं करना चाहिए अगर ऐसे में आप घी का इस्तेमाल करेंगे तो इससे आपके बच्चे का वजन भी जरूरत से ज्यादा बढ़ सकता है और अगर आपके बच्चे का वजन पहले से ही बहुत ज्यादा हो गया है तो भी आपको घी का सेवन नहीं करना चाहिए
    • जिन  महिलाओ को प्रेगनेंसी के टाइम पे हाई bp की प्रॉब्लम है उनको भी प्रेगनेंसी के टाइम पे घी का सेवन नहीं करना चाहिए अगर  आप हाई bp में घी का सेवन करेंगे तो ये बहुत rishky हो सकता है आपके लिए
    • लीवर से जुड़ी बीमारियों (Liver diseases) में भी देसी घी खाने से नुकसान पहुंच सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, कमजोर लीवर वाले लोग जब देसी घी का सेवन करते हैं तो इससे उनके लीवर को नुकसान पहुंचता है और लीवर को ठीक तरीके से काम करने में भी दिक्कत आती है। इससे, घी को पचा पाना लीवर के लिए मुश्किल हो सकता है जो कई तरह की कॉम्प्लिकेशन्स बढ़ा सकते हैं। इसीलिए, हेपेटाइटिस (Hepatitis) टायफाइड (Typhoid) या लीवर सिरोसिस जैसी बीमारियों से ठीक होने वाले मरीजों को कुछ समय तक घी का सेवन ना करने की सलाह दी जाती है। (Conditions when one should not consume desi ghee)

    घी से होने वाले फायदे ?

    • घी से इम्युनिटी स्ट्रांग होती है अगर आप एक बूंद घी  सोते टाइम नाक में डाल दे  तो आपकी इम्युनिटी बहुत स्ट्रांग हो जाएगी
    • पाचन तंत्र को सुधारता है
    • यदि आपको कब्ज की शिकायत होती  है प्रेगनेंसी टाइम पे ,तो रात को दूध में एक चमच घी को डाल  करके पिए लेकिन इतना घी नहीं खाना है की आपको डायरिया हो जाये  लेकिन कॉन्स्टिपेशन को दूर करने के लिए  घी दूध में ऐड करके आप  पि सकते है  ये बहुत फायदेमंद होता है क्युकी कब्ज की वजह से स्मूथ डेलिवरी में प्रॉब्लम आती है इसीलिए घी का प्रयोग उचित मात्रा में जरूर करे
    • घी खाने से वजन कण्ट्रोल रहता है
    • बच्चे का वजन सही तरीके से बढ़ता है

    आशा करते है आपको जानकारी पसंद और उपयोगी लगी होगी तो अपनी प्रेगनेंसी में घी का सेवन जरूर करे

घी से होने वाले फायदे ?

  • घी से इम्युनिटी स्ट्रांग होती है अगर आप एक बूंद घी  सोते टाइम नाक में डाल दे  तो आपकी इम्युनिटी बहुत स्ट्रांग हो जाएगी
  • पाचन तंत्र को सुधारता है
  • यदि आपको कब्ज की शिकायत होती  है प्रेगनेंसी टाइम पे ,तो रात को दूध में एक चमच घी को डाल  करके पिए लेकिन इतना घी नहीं खाना है की आपको डायरिया हो जाये  लेकिन कॉन्स्टिपेशन को दूर करने के लिए  घी दूध में ऐड करके आप  पि सकते है  ये बहुत फायदेमंद होता है क्युकी कब्ज की वजह से स्मूथ डेलिवरी में प्रॉब्लम आती है इसीलिए घी का प्रयोग उचित मात्रा में जरूर करे
  • घी खाने से वजन कण्ट्रोल रहता है
  • बच्चे का वजन सही तरीके से बढ़ता है

आशा करते है आपको जानकारी पसंद और उपयोगी लगी होगी तो अपनी प्रेगनेंसी में घी का सेवन जरूर करे

Leave a Comment